cause of pimple: आमतौर पर इन 5 वजहों से होते हैं पिंपल, जानें क्या है आपकी दिक्कत – why pimple grow on face and back

Published By Garima Singh | 360healthyways.com | Updated:

NBT

चेहरे पर पिंपल उग आने की समस्या आमतौर पर टीनएज से जोड़कर देखी जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस उम्र में हमारे शरीर में तेजी से हॉर्मोनल बदलाव हो रहे होते हैं। इस कारण हॉर्मोन्स लेवल डिस्टर्ब होने हमारी स्किन पर पिंपल्स उगने लगते हैं। जो शुरुआत में किसी छोटे दाने या उभार की तरह महसूस होते हैं। फिर धीरे-धीरे करीब 5 से 7 दिन में पकते हैं और पूरी तरह खत्म होने में करीब 10 से 15 दिन ले लेते हैं। इतने पर भी हमारे चेहरे या गर्दन पर निशान छोड़ जाते हैं, जो महीनों तक हमारी त्वचा पर बना रहता है। वाकई पिंपल ना केवल हमें शारीरिक दर्द देते हैं बल्कि मानसिक पीड़ा भी देते हैं। ऐसे में इनसे बचने के तरीके जानना बेहद जरूरी है…

सिर्फ हॉर्मोन्स नहीं हैं जिम्मेदार

हमारे चेहरे पर मुहांसे उग आने की इकलौती वजह हमारे गड़बड़ाए हुए हॉर्मोन्स नहीं होते हैं। बल्कि हमारे पेट में जमा कब्ज, हमारे दिमाग पर चढ़ा तनाव और हमारे शरीर में मौजूद अन्य बीमारियां भी होती हैं। कई बार शरीर की अंदरूनी नहीं बल्कि स्किन प्रॉब्लम के कारण भी हमें मुहांसे होते हैं।

कब्ज के कारण समस्या

कई बार खान-पान ठीक से ना होने या पेट संबंधी किसी दिक्कत के चलते हमें कब्ज की समस्या हो जाती है। इस कारण हमारे शरीर के विषाक्त तत्व बाहर नहीं निकल पाते। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि हमारी बॉडी किसी भी तरह का गार्बेज अपने अंदर नहीं समेटती है और उसे बाहर निकालने का रास्ता खोज ही लेती है। इसी वजह से कब्ज के कारण जो भी हॉर्मफुल एलिमेंट्स हमारे शरीर के अंदर पनपते हैं, हमारा मेटाबॉलिज़म उन्हें स्किन के रोम छिद्रों द्वारा बाहर फेंकने लगता है। ताकि शरीर के अंदर कोई घातक बीमारी ना पनपे। इस दौरान ये विषाक्त तत्व हमारे स्किन पोर्स को बंद कर देते हैं। जिस कारण हमारी त्वचा सांस नहीं ले पाती और उसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। जो पिंपल के रूप में हमें नजर आते हैं।

NBT

कब्ज के कारण होते हैं पिंपल

स्ट्रेस यानी तनाव के कारण पिंपल

स्ट्रेस भले ही मानसिक बीमारी हो लेकिन यह हमारे पूरे शरीर और एनर्जी लेवल को प्रभावित करती है। इसलिए जरूरी है कि तनाव से बचने के तरीके अपनाए जाएं। तनाव के कारण हमारे शरीर में हैपी हॉर्मोन रिलीज होना कम हो जाता है। हमारे दिमाग को हैपी और रिलैक्स रखने में डोपामाइन और एंडोर्फिन नाम के हॉर्मोन्स मेन रोल प्ले करते हैं। लेकिन स्ट्रेस के कारण इनका बनना कम हो जाता है और बॉडी हॉर्मोनल डिसबैलंस का शिकार हो जाती है। इसी का नतीजा होते हैं हमारे चेहरे पर उग आए पिंपल्स।

यह भी पढ़ें:दिखना है ब्‍यूटिफुल और सिंपल? इन तरीकों से दूर करें पिंपल

स्किन बैक्टीरिया

कुछ लोगों की स्किन बहुत अधिक सेंसेटिव होती है। अति संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को दाने, पिंपल, वाइट हेड्स और ब्लैक हेड्स की समस्या अधिक सताती है। जिन लोगों की स्किन बहुत ऑइली या बहुत ड्राई होती है, उनकी स्किन पर एक खास तरह का बैक्टीरिया एक्टिव हो जाता है। जो दानों और पिंपल्स की वजह बनता है। अगर आपके चेहरे, कंधों और पीठ पर लगातार एक पिंपल के बाद दूसरा पिंपल पनप रहा है तो इसकी वजह स्किन बैक्टीरिया हो सकता है। ऐसे में बेहद जरूरी है कि आप किसी स्किन स्पेशलिस्ट से ट्रीटमेंट लें।


NBT

नहीं नोचने चाहिए पिंपल

दवाई का रिऐक्शन

बॉडी पर कहीं भी और खासतौर पर चेहरे पर उगत रहे पिंपल्स की एक वजह किसी दवाई का रिऐक्शन भी हो सकता है। कई बार हम किसी एक बीमारी को ठीक करने के लिए दवाइयां लेते हैं, जो हमारी उस बीमारी को तो ठीक कर देती हैं लेकिन उन दवाइयों की गर्मी के कारण या उनके रिएक्शन के कारण हमारे चेहरे पर पिंपल उग आते हैं। इसकी एक खास वजह उन दवाओं के कारण डिस्टर्ब हुआ हमारा डायजेस्टिव सिस्टम भी होता है। इस स्थिति में भी आपको डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए।

यह भी पढ़ें: चेहरे से दाग-धब्बे हटाने का यह है घरेलू और आसान तरीका

क्यों नहीं नोचने चाहिए पिंपल ?

आपके घर में जब भी किसी बड़े ने आपको अपने चेहरे पर उगे पिंपल्स को नोचते हुए देखा होगा तो आपको ऐसा ना करने की सलाह जरूर दी होगी। पिंपल नोचने के लिए इसलिए मना किया जाता है ताकि इसके अंदर जमा गंद में पनप रहे बैक्टीरिया बाकी स्किन पर ना फैलें। साथ ही पिंपल नोचने के कारण स्किन सेल्स बुरी तरह डैमेज हो जाते हैं और हमारी त्वचा पर पिंपल का दाग बन जाता है। इस दाग को हटाने में कई बार महीनों बीत जाते हैं।

Source link

Related Post:



Leave a Reply