Prakash Kothari: पति को सेक्स की इच्छा होती है पर इरेक्शन नहीं होता! – how to get erection

Published By Kajal Sharma | नवभारत टाइम्स | Updated:

प्रकाश कोठारीप्रकाश कोठारी

डॉ. प्रकाश कोठारी

सवाल: मेरी शादी को 3 साल हुए हैं। मुझे परेशानी यह है कि पति को ख्वाहिश होती है, लेकिन इरेक्शन इतना मजबूत नहीं होता कि प्रवेश कर सकें। क्या करूं?

जवाब: अगर उनको मास्टरबेशन या पॉर्न फिल्म देखने के दौरान इरेक्शन होता है, लेकिन आपके साथ सेक्स के दौरान नहीं तो यह समझ लें कि समस्या मानसिक है, शारीरिक नहीं। हां, किसी भी अवस्था में अगर उनके प्राइवेट पार्ट में प्रवेश के योग्य मजबूती न आए तो यह शारीरिक समस्या हो सकती है। शारीरिक समस्या के कई कारण होते हैं। मिसाल के तौर पर अगर कोई शख्स डायबीटीज, बीपी या मानसिक समस्याओं की दवाएं ले रहा हो तो ऐसी समस्याएं आ सकती हैं। बेहतर यही होगा कि इस समस्या की जड़ तक पहुंचें और इलाज करवाएं। अपने डॉक्टर से इस बारे में विस्तार से बात करें।

झगड़े के बाद बेड पर दिखा दें कौन है बॉस

  • झगड़े के बाद बेड पर दिखा दें कौन है बॉस

    सेक्सॉलिस्ट्स की मानें तो इंसान के दिमाग में 90 फीसदी वक्त सेक्स रहता है। यहां तक कि सेक्स के बारे में सोचकर ही कई इमोशंस रिलीज करने में मदद मिलती है। वहीं झड़गे के बाद वाले सेक्स की बात करें तो कई लोगों का मानना है कि यह बेस्ट होता है। यहां जानें इसको और प्लैजरेबल कैसे बनाया जा सकता है…

  • डीप किस से करें शुरआत

    झगड़े के दौरान पैदा हुई एनर्जी का अगर सही इस्तेमाल किया जाए तो सेक्स डीप सैटिस्फैक्शन देने वाला हो सकता है। पार्टनर से किसी बात पर बहस के दौरान ही आप उनका मुंह पैशनेट किस से बंद कर सकते हैं। इसके बाद उनको दिखा दें कि कौन है बॉस…

  • उन्हें दिखा दें 'गुस्सा' क्या होता है

    अपने गुस्से को आप बेड पर हार्डकोर सेक्स सेशन में बदल दें लेकिन ध्यान रखें वायलेंट न हों बल्कि प्यार बरकरार रखें। अपने पार्टनर को फील करा दें कि ऐंग्री सेक्स होता क्या है।

  • डर्टी टॉक से निकाल दें गुस्सा

    आपके अंदर जो गुस्सा है उसे डर्टी टॉक से बाहर निकाल दें। लड़कियां डर्टी टॉक से अराउज होती हैं लेकिन ध्यान रखें कि डर्टी टॉक सेक्सी हो अपशब्द नहीं। अपने गुस्से से उन्हें प्यार के लिए उत्तेजित करें।

  • फील करें और करा दें प्यार की ताकत

    गुस्से के बाद जब पैचअप होता है तो हैपी हॉर्मोन्स का काम शुरू हो जाता है। यह बहुत खुशी देते हैं। इस दौरान पार्टनर से नजदीकी बढ़ती है इस मौके का पूरा फायदा उठाएं। हमेशा ध्यान रखें गुस्सा थोड़ी देर का होता है आखिरकार आप दोनों में गहरा प्यार है, उन्हें यह भी फील करा दें।

अगर इस समस्या का फौरी तौर पर समाधान चाहती हैं तो Vardenafil (10mg) या Tadalafil (10mg) या Sildenafil (50mg) दवाओं को आजमा सकती हैं। ये दवाओं के जेनरिक नाम हैं, बाजार में ये दूसरे ब्रैंड नाम से उपलब्ध हैं। इन तीनों दवाओं में से किसी भी एक दवा की एक गोली सहवास के एक घंटे पहले लेनी चाहिए। इस दवा को भूखे पेट लेना बेहतर है। यह आए हुए तनाव में काफी इजाफा करती है। मिसाल के तौर पर अगर किसी को 30 फीसदी इरेक्शन आया है तो यह दवा उसे बढ़ाकर 90 फीसदी तक ले जा सकती है। तब सहवास मुमकिन हो जाता है। ध्यान रहे कि यह दवा 24 घंटे में एक बार ही ले सकते हैं।

नोट: डॉक्टर की सलाह से ही कोई दवा लें। अगर कोई शख्स जेनरिक दवा नाइट्रेट्स या अल्फा ब्लॉकर लेते हैं तो इरेक्शन में इजाफा करने वाली दवा न लें।

आपका भी कोई सवाल है/ हमें हिन्दी या अंग्रेजी में सवाल भेजें drprakashkothari1@gmail.com पर।

Source link


Related Post:



Leave a Reply