best oil for deep fried food: जानें, डीप फ्राइड फूड के लिए तेल या देसी घी में से क्या है बेस्ट – desi ghee or which oil is best for deep fried food in hindi

वजन घटाने की बात पर सबका फोकस केवल और केवल खाने पर होता है। कोई यह नहीं बताता कि खाना बनाने के लिए किस तेल का इस्तेमाल करें ताकि आपका वजन बढ़ने की संभावना बहुत कम हो जाए…

Edited By Garima Singh | 360healthyways.com | Updated:

NBT

हममें से ज्यादातर लोग अपनी सेहत को लेकर सतर्क हो गए हैं। क्योंकि कोरोना वायरस आउट ब्रेक ने हमें हाइजीन और हेल्थ दोनों का महत्व बहुत अच्छी तरह समझा दिया है। ऐसा नहीं है कि हम लोग पहले इन बातों का ध्यान नहीं रखते थे, आप और हम पहले भी ऐसा करते थे। लेकिन अब इस विषय में जागरूकता स्तर बहुत अधिक बदल गया है। चलिए, फिर आज जान लेते हैं कि हेल्दी फूड बनाने के लिए सबसे हेल्दी तेल कौन-सा रहता है। ताकि डीप फ्राइड और तेज हीट पर बना खाना भी सेहत के गुणों से भरपूर रहे…

तेल के रोल को समझें

-जिस तेल में हम खाना बनाते हैं, उसका भी हमारे वेट को बढ़ाने, घटाने या मेंटेन रखने में बड़ा रोल होता है। जैसे सोयाबीन का तेल, मूंगफली का तेल , तिल का तेल या अलग-अलग तरह के रिफाइंड और घी। इन सभी की अलग-अलग प्रॉपर्टीज होती हैं और हमारे शरीर पर इनके असर भी अलग-अलग होते हैं। लेकिन अगर आप ऐसा खाना पकाना चाहते हैं, जो आपकी भूख मिटाने के साथ ही आपका वेट घटाने में भी मदद करे तो आपको ऑलिव ऑइल का चुनाव करना चाहिए।

डायबीटीज के मरीज भी मजे से खा सकते हैं ये 8 फ्रूट्स

NBT

तली हुई चीजों के लिए देसी घी है सही

वेट कंट्रोल में मिलती है हेल्प

-आपने अब तक यह तो पढ़ा होगा कि ऑलिव ऑइल स्किन और बालों के लिए बहुत अच्छा रहता है। लेकिन हम आपको बता रहे हैं कि ऑलिव ऑइल वेट लॉस में भी मददगार है। दरअसल हेल्थ एक्सपर्ट्स और डायटीशियन्स का मानना है कि जब हम हाई सैचुरेटेड डायट छोड़कर मोनो अनसैचुरेटेड डायट लेने लगते हैं तो हमारा वजन कुछ हद तक कंट्रोल करने में मदद मिलती है। फिर भले ही आप इस दौरान अपनी खाने में कैलरीज की मात्रा पहले जितनी ही बनाए रखें। इसलिए एक्सपर्ट्स के अनुसार ऑलिव ऑइल और देसी घी कुकिंग के लिए सबसे बेहतरीन ऑप्शन्स हैं।


Diabetes के मरीज हैं तो गलती से भी न खाएं ये फल, बढ़ जाता है शुगर लेवल

यह है सबसे बड़ी खूबी

देसी घी और ऑलिव ऑइल में हाई स्मोकिंग पॉइंट होता है। यानी वह स्तर पर जिस पर ये स्मोक जनरेट करते हैं इनकी यही खूबी इन्हें फूड फ्राइंग के लिए बेस्ट बनाती है। साथ ही कार्ब्स की जगह मोनो अनसैचुरेटेड फैट लेने का मतलब होता है कि आपके पेट को जल्दी भूख का अहसास नहीं होगा। क्योंकि कार्ब्स की तुलना में फैट को पचाने में अधिक वक्त लगता है। यानी आपको कैलरी तो पूरी मिलती रहेगी लेकिन आपका वेट कंट्रोल में बना रहेगा।

NBT

ऑलिव ऑइल में खाना बनाने के फायदे

आसानी से पचते हैं ये तेल

तो आज से तय कर लीजिए कि खुद को और अपने परिवार को हेल्दी रखने के लिए आप देसी घी और ऑलिव ऑइल में बना खाना ही खाएंगे। अमेरिकन हार्ट असोसिएशन के अनुसार, एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑइल अधिक आंच पर खाना पकाने के लिए बेस्ट ऑइल है। हालांकि अनेक रिसर्च में यह बात भी साबित हो चुकी है कि तिल का तेल, सरसों तेल और सन फ्लॉवर ऑइल तीनों ही कुकिंग के लिए बेस्ट ऑइल्स में शामिल हैं। क्योंकि हमारा शरीर इन ऑइल्स को आसानी से पचा पाता है।

Source link

Related Post:



Leave a Reply