best yoga for glowing face: लड़कों के गाल यूथफुल बनाते हैं ये 2 बेहद आसान योग – experts says best yoga for glowing face

NBT

योग करने के फायदों के बारे में हम सभी ने सुन और पढ़ रखा है। हममें से अधिकतर लोग अपनी फिटनेस और हेल्थ को ध्यान में रखते हुए, जब भी वक्त मिलता है तब योगासन जरूर करते हैं। लेकिन आज हम यहां उन दो योगासनों के बारे में बात करेंगे जो हमारे चेहरे की स्किन को यूथफुल रखने में मदद करते हैं। इन आसनों के नाम है शशकासन और हस्पादासन।

शशकासन

शशकासन को शशांक आसन भी कहते हैं। इस योग मुद्रा के दौरान शरीर खरगोश के समान आकृति में आ जाता है इसलिए इसे शशकासन कहते हैं। संस्कृत भाषा में खरगोश को शशक: कहा जाता है, इसी आधार पर इस आसन का नाम शशकासन पड़ा।

कैसे करते हैं?

शशकासन करने के लिए सबसे पहले आप पालथी लगाकर बैठ जाए। जिसे चौकड़ी लगाना भी कहते हैं और योग की दुनिया में इसे पद्मासन कहते हैं।

-अब अपने घुटनों को थोड़ा-सा लूज छोड़ें और दोनों हाथों को फैलाते हुए ऊपर की तरफ ले जाएं।

– इस दौरान आपकी रीढ़ की हड्डी यानी बैक बोन सीधी होनी चाहिए। ऊपर की तरफ हाथ ले जाते हुए सांस अंदर भरें।

– अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए दोनों हाथों को आगे की तरफ लाएं। इस दौरान आपकी चिन यानी ठोड़ी फर्श पर टिकाने का प्रयास करें।

– ध्यान रखें कि जरूरी नहीं हर आसन आप पहली ही बार में पर्फेक्ट पोश्चर में कर पाएं। जैसे-जैसे मसल्स रिलैक्स और लूज होती रहेंगी आपके पोज बेहतर होते रहेंगे। आप इस आसन को एक वक्त में 4 से 5 बार कर सकते हैं।


ऐसे बढ़ता है चेहरे का ग्लो

अब तक तो हमने शशकासन करने के तरीके की बात की अब बात करते हैं कि ये आपके स्किन का ग्लो कैसे बढ़ाता है। दरअसल, जब हम इस आसन को करते समय पूरी तरह शशक के पोश्चर में आ जाते हैं तो हमारे चेहरे की मांसपेशियों में खिंचाव होता है, चेहरे पर प्रेशर पड़ता है। इस दौरान फेस मसल्स की एक्सर्साइज होती है और इनमें ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। जिससे स्किन ग्लोइंग बनती है।

NBT

शशकासन करने के अलग-अलग तरीके

हस्तपादासन

इस आसन का नाम भी हस्तपादासन इसके पोश्चर के कारण पड़ा है। दरअसल, संस्कृत भाषा में हाथों को हस्त और पैरों को पाद कहा जाता है। इस आसन के समय हम अपने हाथों से पैरों की पिंडलियों को पकड़ते हैं। इसलिए इसका नाम हस्तपादासन पड़ा।

हस्पादासन करने की विधि

-योग मैट्रेस या किसी दरी को फ्लोर पर बिछाकर उस पर सीधे खड़े हो जाएं और पहने दोनों पैरों को आपस में मिला लें।

– अब दोनों हाथों को ऊपर की तरफ ले जाते हुए सांस अंदर भरें और फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए कमर को आगे की तरफ बैंड करें और अपने हाथों से पैरों के निचले हिस्से को पकड़ने का प्रयास करें।

– इस स्थिति में जितनी देर रह सकते हैं रहें। आप इस प्रक्रिया को 5 से 6 बार दोहरा सकते हैं।

इस तरह बढ़ता है ग्लो

शशकासन के दौरान हमारी नेक और फेस की मसल्स पीछे की तरफ खींचती हैं और इस दौरान उन पर दबाव पड़ता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। जबकि हस्तपादासन करते समय ब्लड का सर्कुलेशन हमारे चेहरे की तरफ खुद-ब-खुद बढ़ जाता है। इससे स्किन ग्लोइंग और यूथफुल बनती है।

एक्सपर्ट्स व्यू: योग एक्सपर्ट सोमदत्त तिवारी का कहना है कि अगर आपकी कमर में दर्द है तो उस वक्त आप इन दोनों में से कोई भी आसन ना करें। इस स्थिति में आपको सिर्फ शवासन करना चाहिए और अपने डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवाओं को सही तरीके से लेना चाहिए। जब आपकी यह समस्या ठीक हो जाए तो आप इन दोनों योगानसों को कर सकते हैं। योगासन और इनके प्रभाव के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इनसे मोबाइल नंबर – 96191-12004 पर संपर्क कर सकते हैं।

Source link

Related Post:



Leave a Reply